अपनी मेहनत से दूर की इन भारतीय क्रिकेटर्स ने गरीबी, कोई वॉचमैन रहा तो कोई था मजदूर

loading...


सब सोचते हैं की यह क्रिकेटर है जो जन्म से ही पैसे वाले हैं, कुछ तो ऐसा भी मानते हैं की यह पैसे देखर टीम में शामिल हुए हैं। पर ऐसा कुछ भी नहीं है भारत की क्रिकेट टीम में ऐसा शायद ही कोई खिलाड़ी हो जो जन्म से अमीर था। आज हम क्रिकेट के कुछ उन खिलाड़ियो के बारे में बताने जा रहे है जो क्रिकेटर बनने से पहले कुछ ऐसा काम करते थे। दुनिया भर के लोगों का यही मानना है की यह सिर्फ पैसे के बल से इस टीम में है तो उनका यह मानना भी गलत हो जाएगा। इस पोस्ट को अवश्य पढ़ें।

रविन्द्र जडेजा – रविन्द्र जडेजा का नाम आता है तो एक ऑल राउंडर की याद आती हैं। पर बहुत कम लोग जानते है की क्रिकेटर बनने से पहले इन्होने चौकीदारी का काम भी किया था। और इनके पिता भी चौकीदार थे।

उमेश यादव, गेंदबाज़ी में ही नहीं सपनो में भी थी गति – अपनी गेंदबाजी से विपक्षी टीम के पैसें छुटाने वाले उमेश यादव आज जैसे है वो पहले ऐसे नहीं थे। आज इनके पास सब है पर एक वक्त था जब इनके पास कुछ नहीं था। इन्होने 12वीं के बाद मजदूरी की थी।

पठान बंधू  – इरफ़ान पठान और यूसफ पठान का नाम पूरी दुनिया जानती हैं। दोनों के पास कभी कुछ नहीं था थी तो सिर्फ मेहनत और उसी मेहनत से यह आज इस मुकाम पर पहुंचे हैं। इन्होने मस्जिद की रखवाली का काम किया है।