इस मंदिर के पुजारियों पर मारा छापा, आयकर अधिकारियों के उड़ गए होश


यह आप सब जानते हो की भारत के मंदिरों के पास जितना पैसा है उतना पैसा किसी के पास भी नहीं है। हाल ही में नोटबंदी के बाद कुछ मंदिरों का धनकौश पूरी तरह से ध्वस्त हो गया है। माना जा रहा है की मंदिरों में लाखों नहीं करोड़ों अरबो रुपयों की लेनदेन होती है। नोटबंदी के माहोल में कुछ मंदिरों ने तो अपने खुल्ले पैसे को कालाबजारियों को शौंप दिया और उनका काला पैसा सफेद कर दिया। हाल ही में एक मंदिर पर ऐसा छापा पड़ा है की सब हैरान रह गये हैं।

महंतो के पास करोड़ो का पैसा फिर नहीं आया समाने – नासिक में एक मंदिर पर पड़े छापे से साफ़ होता है की हिन्दू धर्म के नाम पर ठगी की जा रही है। एक मंदिर के महंत के पास करोड़ों का धन होना साफ करता है की लोग सिर्फ मन्दिर के नाम पर लोगों से पैसे  लूटते है और सरकार को उसका कोई भी ब्योरो नहीं देते है। यहाँ तक की कुछ लोगों ने तो उस पैसे को लोगों को देकर सफेद  भी कर दिया है।

नासिक त्रयंबकेश्वर मंदिर पर छापा – आयकर विभाग ने बीते सोमवार इस मंदिर पर छापा मारा। इस मंदीर के पुजारी गणेश चांदवडकर और गणपति शिखरे के घर पर भी छापा मारा। इस छापे से पता चला की यह दोनों मंदिर के नाम पर अपना घर बना रहे है यानी अनेक होटल और अनेक बिल्डरों के साथ पार्टनरशिप कर चुके है।