जानिए कब प्रधानमंत्री मोदी ने बचाई थी जयललिता की जान और किया था सावधान!

loading...

जयललिता का बीते सोमवार को निधन हो गया। जयललिता काफी समय से बिमारी के कारण होस्पिटल में थी। बिमारी की वजह से होस्पिटल में ही उनकी मृत्यु हो गयी। जयललिता लोगो के बिच अम्मा के नाम से जानी जाती थी। अम्मा के निधन की खबर सुनकर सारे देश में शोक की लहर दौड़ गयी। उनके अंतिम संस्कार के समय इतना जनसेलाब था की लोगो की भीड़ को नियंत्रित करना मुश्किल हो गया था। अम्मा के चाहने वालो की तादाद बहुत ज्यादा है। उनकी आत्मा की शांति के लिए लोगों ने प्रार्थना की। हम बताने वाले हैं, अम्मा के जीवन से जुडी एक रोचक घटना के बारे में। जानिये इसके बारे में –


modi-and-jaylalithaa-newstrend-06-12-16-1

पहले भी की गयी थी उन्हें मारने की कोशिश – अम्मा को जान से मारने की पहले एक कोशिश की थी। अम्मा को मारने के लिए उनके खाने में रोज थोडा-थोडा जहर दिया जाता था। यह बात 2011 की है। खाने में थोडा-थोडा जहर दिए जाने के बाद वे बीमार रहने लगी थी। जहर के कारण जयललिता कमजोर भी हो गयी थी। सौभाग्यवंश कोई अनहोनी होने से पहले इस बात का पता चल गया। तब नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे। मोदी उनसे मिलने उनके घर गये जहाँ उन्हें कुछ सुझाव दिए जिस कारण उनकी जान बच गई थी।

मोदी ने चेताया – मोदी जब जयललिता से मिलने के लिए गये तो उन्हें यह भी बताया की तमिलनाडू के कारोबारी गुजरात में निवेश के लिए पूछताछ कर रहे हैं क्योकि उनकी करीबी शशिकला नटराजन और उनके लोग कारोबारियों से अवैध रूप से वसूली कर रहें हैं। यह सुनकर उन्हें बहुत आश्चर्य हुआ। जयललिता को यह सब सुनकर एक धक्का सा लगा।

मोदी ने सह्तको लेकर भी चेताया – मोदी ने जयललिता की हालत देखि तो मोदी ने उन्हें उनकी सेहत को लेकर भी चेतावनी दी। मोदी ने उनके चेहरे के नील होते रंग को देख कर कहा था। मोदी के चेताए जाने के बाद वे अपनी सेहत और खान-पान की चीजो का ध्यान रखने लगी थी। इसके बाद उन्होंने अपने एक निजी डॉक्टर से अपनी जांच करवाई,जिसमे पता चला की उन्हें थोडा-थोड़ा जहर दिया जा रहा है।

शशिकला के कहने पर – जाँच के बाद यह पता चला की उनके खाने में जहर उनकी नर्स ही मिला रही थी। यह सब शशिकला के कहने पर हो रहा था। जो नर्स अम्मा के खाने में जहर मिला रही थी उसे शशिकला ने ही काम पर रखा था। अम्मा को जो जहर दिया जाता था। उस  जहर से इन्सान के शरीर में सुस्ती बन जाती है। ज्यादा नींद आने लगती है। और इन्सान धीरे-धीरे कमजोर होने लगता है। उस जहर को लम्बे समय के लिए दिया जाए तो इन्सान की मौत भी हो सकती है। अम्मा की मौत का कारण व्ही जहर रहा था। नर्स ने बाद में स्वीकार लिया था की वही शशिकला के कहने पर अम्मा को खाने में जहर दिया करती थी।

शशिकला चाहती थी सत्ता – कुछ सूत्रों से बताया जा रहा है की अम्मा की करीबी शशिकला अम्मा को मारकर अपने पति को सत्ता दिलाना चाहती थी। जब इस बात का पता अम्मा को चला तो अम्मा ने शशिकला व उसके परिवार को पार्टी से निकाल फेंका। इस सब के बाबजूद भी अम्मा ने शशिकला पर कोई केस नही किया क्योकि शशिकला अम्मा की दोस्त थी। इस घटना के लगभग तिन महीने बाद शशिकला ने अम्मा से माफ़ी मांग ली। अम्मा ने उसे माफ़ कर दिया। और यह भी कहा जा रहा है की अम्मा की मौत के समय उनके कुछ खास लोगो में शशिकला भी शामिल थी।